गुरुवार, 20 मई 2010

मुखौटा

मैं थक गया हूँ,अपने आप से
टूट चूका हूँ अपने ही स्वार्थ से
जो सपने देखे थे,जो अरमाँ सजाये थे
सब एक एक कर टूट रहे....

सोचा था ये करेंगे,सोचा था वो करेंगे
पर मेरी लालच ने,हर कदम पर मुझे रोका
मैंने झूठ बोला,आज भी बोल रहा हूँ
अपने आप से,इस समाज से
कई मासूमों से,कई आँखों से
तरह तरह का चोला पहनकर
घूमता रहा बेबाक,असली चेहरा छुपा
सबको धोका देता रहा...

मैं कहता रहा अपने आप से
आज नहीं तो कल सही,कुछ करुँगा जरूर,
अपने गाँव के लिए,इस समाज के लिए,
पर मुझसे कुछ न हो पाया....

न पैसे जोगना मेरा उद्देश्य था
न वैभव,विलास की ही मुझे चाह थी
पर जिंदगी की बनियागीरी ने,
मूल्य की चाहत ने मुझे
मूल्यहीन कर दिया है अब,
जीवन की राग में ऐसे खोया
कि,दूसरों की सेवा क्या करता
खुद की सेवा में खूब रमा मैं

मुखौटा लगाकर किये गए
मेरे कई नाटक, कईयों को
दिखाए हुए हसीं सपने
अब दर्द कर कराह रही हैं
परत दर परत,मुझ पर
लगा मुखौटा उतर रहा है

झूठ का चोला कई रंग का,
कई ढंग से,कई दिनों से पहना मैंने
अब ये चोला उतर रहा
इसका रंग फीका पड़ रहा...

वादे करना बहुत आसान है
उन्हें निभाना उतना ही मुश्किल
अब मैं कुछ न कर पाउँगा,
न ही मुझसे कुछ हो पायेगा
मेरे अँधेरे तन मन में
खंडहर वीरान से इस जीवन में,
कई दिनों से सीने में अब
असहज दर्द बना रहता है

यह पीर अब असहनीय है
आज पंख-हीन हूँ मैं पंक्षी
अब तो स्वछंद रूप से
मेरा उड़ना मुश्किल है...

अचरज से क्या देख रहे तुम,
यह तेरी मेरी कहानी है
ये मुखौटा ओढ़े हुए मैं हूँ,तुम हो
ये हम में से कोई भी हो सकता है..

10 टिप्‍पणियां:

  1. हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

    मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

    यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

    शुभकामनाएं !


    "टेक टब" - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
    आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
    इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
    उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
    आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
    और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ "टेक टब" (Tek Tub) पर.
    यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


    वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

    उत्तर देंहटाएं
  3. कोई बात नहीं नई शुरुआत करें...
    http://merajawab.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब लिखा है संजय भाई | यह वो सच है जो हर किसी के साथ घटता है | आपके लिखने का अंदाज़ अच्छा है | कभी मेरा ब्लॉग पर भी आयें - http://jazbaattheemotions.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत खूब। शुरुआत शानदार है....
    चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है। हिंदी ब्लागिंग को आप और ऊंचाई तक पहुंचाएं, यही कामना है।
    फुरसत हो तो यहां पधार सकते हैं -
    http://gharkibaaten.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद..
    वैसे भाषा पर मेरी उतनी मजबूत पकड़ नहीं है
    बस भावनाओं को सहज शब्दों में पिरोने की कोशिश करता हूँ ...
    आशा है आप सभी का सहयोग और मार्गदर्शन मिलता रहेगा

    उत्तर देंहटाएं
  7. " बाज़ार के बिस्तर पर स्खलित ज्ञान कभी क्रांति का जनक नहीं हो सकता "

    हिंदी चिट्ठाकारी की सरस और रहस्यमई दुनिया में राज-समाज और जन की आवाज "जनोक्ति.कॉम "आपके इस सुन्दर चिट्ठे का स्वागत करता है . चिट्ठे की सार्थकता को बनाये रखें . अपने राजनैतिक , सामाजिक , आर्थिक , सांस्कृतिक और मीडिया से जुडे आलेख , कविता , कहानियां , व्यंग आदि जनोक्ति पर पोस्ट करने के लिए नीचे दिए गये
    लिंक पर जाकर रजिस्टर करें
    . http://www.janokti.com/wp-login.php?action=register,
    जनोक्ति.कॉम www.janokti.com एक ऐसा हिंदी वेब पोर्टल है जो राज और समाज से जुडे विषयों पर जनपक्ष को पाठकों के सामने लाता है . हमारा प्रयास रोजाना 400 नये लोगों तक पहुँच रहा है . रोजाना नये-पुराने पाठकों की संख्या डेढ़ से दो हजार के बीच रहती है . 10 हजार के आस-पास पन्ने पढ़े जाते हैं . आप भी अपने कलम को अपना हथियार बनाइए और शामिल हो जाइए जनोक्ति परिवार में !

    उत्तर देंहटाएं
  8. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    उत्तर देंहटाएं
  9. उत्तम लेखन… आपके नये ब्लाग के साथ आपका स्वागत है। अन्य ब्लागों पर भी जाया करिए। मेरे ब्लाग "डिस्कवर लाईफ़" जिसमें हिन्दी और अंग्रेज़ी दौनों भाषाओं मे रच्नाएं पोस्ट करता हूँ… आपको आमत्रित करता हूँ। बताएँ कैसा लगा। धन्यवाद...

    उत्तर देंहटाएं